1 0
Read Time:7 Minute, 40 Second

विश्व जनसंख्या दिवस परिवार कल्याण के सभी संकेतकों में जबरदस्त हुआ सुधार’ प्रजनन दर कमी में पिछड़ रहे क्षेत्रों के ब्लॉक के लिए विशेष कार्ययोजना बनेगी

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वे (2019-21) के आंकड़ों के अनुसार राजस्थान ने परिवार कल्याण के संकेतकों में जबरदस्त सुधार दर्ज किया है। राज्य प्रतिस्थापन स्तर से नीचे प्रजनन दर 2.0 प्राप्त कर देशभर में अग्रणी राज्यों में है। अब ब्लॉक स्तर पर आंकड़ों का विश्लेषण कर प्रजनन दर में पिछड़ रहे क्षेत्रों के लिए विशेष रणनीति बनाकर कार्यवाही की जाएगी। समारोह में निदेशक आईईसी व आयुक्त खाद्य-औषधि नियंत्रण श्री सुनील शर्मा, निदेशक, निदेशक आरसीएच डॉ. के.एल.मीणा, निदेशक सीफू डॉ. आर.पी. डोरिया सहित संबंधित अधिकारीगण मौजूद थे।
विश्व जनसंख्या दिवसः 11 जुलाई के अवसर पर सोमवार को इंदिरा गांधी पंचायतीराज सभागार में राज्य स्तरीय सम्मान समारोह में शासन सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डॉ. पृथ्वी ने सम्बोधित करते हुए परिवार कल्याण के क्षेत्र में मिशन परिवार विकास (एमपीवी) एवं नोन एमपीवी जिलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने सभी जिलों को बधाई दी एवं अन्य जिलों को इनसे प्रेरणा लेकर कार्य करने के लिए कहा। उन्होंने बताया कि राजस्थान ने गत वर्षों में परिवार कल्याण के क्षेत्र में जो उल्लेखनीय कार्य किया है इसी का परिणाम है कि आज प्रदेश देशभर में एक लीडिंग स्टेट के रूप में उभरकर सामने आया है।
शासन सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, मुख्यमंत्री निःशुल्क निरोगी राजस्थान योजना, मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना, निःशुल्क जांच योजना के सफल क्रियान्वयन से प्रदेशवासियों को निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवायी जा रही हैं। देशभर में प्रदेश यूनिवर्सल हैल्थ कवरेज के क्षेत्र में अग्रणी है। योग्य दम्पतियों से सम्पर्क कर उन्हें आवश्यकतानुसार परिवार कल्याण सेवाएं सुलभ कराने की दिशा में और अधिक प्रयास बढाने पर बल दिया।
निदेशक आरसीएच डॉ. के.एल.मीणा ने प्रदेशभर में संचालित परिवार कल्याण गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी एवं कार्यक्रम के बारे में परिचय दिया। उन्होंने बताया कि विश्व जनसंख्या दिवस हर साल 11 जुलाई को मनाया जाता है, जो वैश्विक जनसंख्या मुद्दो के बारे में जागरूकता बढाने का प्रयास करता है। यह आयोजन 1989 में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसिल द्वारा स्थापित किया गया था। विश्व जनसंख्या दिवस का उद्देश्य विभिन्न जनसंख्या मुद्दों जैसे कि परिवार नियोजन, लैंगिक समानता, गरीबी, मातृ स्वास्थ्य और मानव अधिकारों का महत्व पर लोगों की जागरूकता बढाना है।
परियोजना निदेशक परिवार कल्याण डॉ. गिरीश द्विवेदी ने अंत में सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने बताया कि परिवार नियोजन कार्यक्रम के पुरुशों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से पुरुश सहभागिता सम्मेलनों का आयोजन किया जा रहा है। वर्श 2021-22 में कुल 762 पीएसएस आयोजित किए गए, इन सम्मेलनों में कुल 14269 प्रतिभागियों ने भाग लिया।
राज्यस्तर पर जिले के चिकित्सा विभाग को मिला 11 लाख रूपये का पुरस्कार:- जनसंख्या स्थायित्व के क्षेत्र में वर्ष 2021-22 के दौरान जिले की टीम द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने पर राज्य स्तर पर जिले को सम्मानित किया गया। 11 जुलाई जनसंख्या दिवस के अवसर पर जिले को 11 लाख रूपये पुरस्कार स्वरूप प्रदान किए गए।
परिवार कल्याण प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के अंतर्गत राज्य स्तर पर आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में सम्मानित किया गया। जिले को प्रशस्ति पत्र व 11 लाख रूपये व उप जिला अस्पताल गंगापुरसिटी को प्रशस्ति पत्र व 1 लाख रूपये पुरस्कार स्वरूप प्रदान किये गए। जिले के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. तेजराम मीना, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कैलाश सोनी व प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. दिनेश गुप्ता को राज्य स्तर पर सम्मानित किया गया।
मुख्य चिकित्स एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. तेजराम मीना ने बताया कि जिले को मिशन परिवार विकास श्रेणी में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए चयनित किया गया है। साथ ही जिला चिकित्सालय की श्रेणी में जिला चिकित्सालय की श्रेणी में संस्थान को प्रथम पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है।
डॉ मीना ने जिले के सभी अधिकारियों, कार्मिकों की पूरी टीम को बधाई दी और कहा कि सभी के अथक प्रयासों के कारण ही जिले को यह मुकाम मिल सका है। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं शुभकामनाओं के साथ ही अपेक्षा करता हूं कि भविष्य में भी हम जनसंख्या स्थायित्व के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करते हुए जिले व राज्य के स्वास्थ्य सूचकांकों में आपेक्षित सुधार लाने के लिए कार्य करते रहेंगे।
जनसंख्या स्थायित्व के क्षेत्र में वर्ष 2021-22 के दौरान जिले की टीम द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने के फलस्वरूप राज्य स्तरीय चयन समिति द्वारा जिले को मिशन परिवार विकास श्रेणी में जिले को पुरस्कार के लिए चयन किया गया है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.