0 0
Read Time:4 Minute, 10 Second

  • चकेरी क्षेत्र में कई जगह घुटनों तक पानी भरा, देवपुरा-अजीतपुरा में बांध टूटने की आशंका से लोगों का पलायन
  • नदी-नाले उफान पर

    जिलेभर में चार दिनों से बारिश का दौर लगातार जारी है। जिले के नदी-नाले उफान पर हैं और बांधों में भी पानी की आवक लगातार जारी है। गांवों को आपस में जोड़ने वाले मार्गों पर बनी रपटों पर कई फीट ऊंचाई तक पानी बह रहा है, जिससे गांवों का संपर्क आपस में कट गया है। लगातार बारिश और सीलन के कारण कई कच्चे मकान ढह गए। बांधों के भर जाने के बाद उन पर चल रही चादर का पानी गांव में आने से गांव के लोग सुरक्षित जगहों पर जा रहे हैं। वहीं प्रशासन और पुलिस द्वारा भी लोगों को पानी वाली जगहों पर नहीं जाने के लिए सतर्क किया जा रहा है।जिला मुख्यालय पर रविवार शाम को रिमझिम बरसात के बाद रात करीब 9 बजे अचानक से तेज बरसात शुरू हो गई, जो करीब 9.30 बजे तक तेज गति से बरसती रही।

    आधे घंटे तक हुई तेज बरसात से शहर के मुख्य बाजार में कमर तक पानी भर गया। वहीं कई दुकानों और मकानों में भी पानी घुस गया। शहर के जामा मस्जिद के सामने वाला लटिया नाला ओवरफ्लो हो गया और उसका पानी पुलिया के ऊपर से बहने लगा। सोमवार रात करीब 7.30 बजे फिर से तेज बरसात शुरू हुई, जो समाचार लिखे जाने तक जारी रही। जिला मुख्यालय पर रविवार शाम 5 बजे से सोमवार सुबह 8 बजे तक 196 मिमी बारिश हुई।

    वहीं सोमवार को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक 41 मिमी बारिश हुई। इस तरह रविवार को शाम 5 बजे से सोमवार शाम 5 बजे तक 24 घंटों में जिला मुख्यालय पर 237 मिमी बारिश हुई। वहीं एक जून से लेकर अब तक 783 मिमी बारिश हो चुकी है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार दानोदिया ने आमजन से अपील की है कि भारी बरसात से नदी-नालों तथा बांधों में उफान होने से लोग इनके नजदीक जाने से बचें।

    अजीतपुरा गांव का बांध ओवरफ्लो, प्रशासन ने दी लागों को सुरक्षित स्थान पर जाने की हिदायत

    छाण/फलौदी | लहसोड़ा के अजीतपुरा गांव के पास बना बांध ओवरफ्लो होकर पाल के ऊपर से बहने लग गया, जिससे बांध के टूटने की आशंका हो गई। सूचना पर पुलिस एवं प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए तैयार रहने की हिदायत दी। वहीं देवपुरा बांध ओवरफ्लो होकर तीन फुट ऊपर बह रहा है। इससे बांध के आसपास स्थित किशनपुरा, खानपुर, चितारा आदि गांवों पर खतरा मंडराया हुआ है‌। अजीतपुरा बांध के ओवरफ्लो होने की सूचना मिलने पर एसडीएम रघुनाथ खटीक, डीएसपी शकील खान सहित कई अधिकारी अजीतपुरा पहुंचे। कई लोग सामान को ट्रैक्टर ट्रॉली में सुरक्षित स्थानों पर पहुंच गए हैं। एसडीएम रघुनाथ खटीक ने बताया कि तेज बारिश होती है तो अजीतपुरा के लोगों को सवाई गंज एवं बादलगंज के राजकीय विद्यालयों में ग्रामीणों को रखने की जगह देख ली गई है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published.